Saturday, 11 August 2012

हड्डियों के दर्द में रामबाण है "सुदर्शन का रस" - योगाचार्य विजय श्रीवास्तव







सुदर्शन एक ऐसा पौधा है जो लगभग अधिकतर उद्यानों व घरो में गमलों की शोभा बढ़ाते हैं इस वनौषधि को आमतौर पर सुन्दरता के लिए लगाते हैं लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि सुदर्शन के पत्तों में हड्डियों के दर्द को हरने की अद्भुत क्षमता है ये तमाम औषधीय गुणों से भी परिपूर्ण है | इस पौधे का रस हड्डियों के दर्द में चमत्कारिक प्रभाव दिखाता है | इसके पत्ते को आग पर गर्म करके दर्द वाले स्थान पर लपेटना काफी श्रेयष्कर है | यह पौधा घरों में फूल पत्ती लगाने के लिए बनायी गयी क्यारियों और पार्कों में बहुतायत दिखाई देती है, इसका फूल बड़ा, सुन्दर, सफ़ेद व सुगन्धित होता है | इसकी पत्तियों में वेदना हरने का अचूक गुण विद्यमान है , कहीं भी दर्द होने पर उस स्थान पर इसे पीस कर बाँध देने से जल्द ही पर्याप्त राहत मिल जाती है | सुदर्शन की पत्तियों का रस निकाल कर एक - एक बूँद कान में डालने पर तत्काल प्रभाव दिखाता है | हड्डियों के विकार व पीड़ा के लिए सुदर्शन की पत्ती से निर्मित लेप के प्रयोग के साथ साथ कुछ आसन व यौगिक क्रियाएं भी करनी चाहिए , जिसमें उत्कट आसन,  बद्धकोणआसन, त्रिकोणआसन, पद्मासना व कपालभाति इत्यादि का व्यवहारिक जीवन में प्रयोग काफी हितकारी सिद्ध होता है |
पहचान की दृष्टि से सुदर्शन का पौधा छोटा व लम्बी पत्ती वाला होता है इसमें सफ़ेद फूल निकलता है जो सुगन्धित होने के साथ ही सुंदर होता है , इसका आकर्षण देखने लायक होता है |

3 comments:

Vinay Prajapati said...

उपयोगी जानकारी

--- शायद आपको पसंद आये ---
1. DISQUS 2012 और Blogger की जुगलबंदी
2. न मंज़िल हूँ न मंज़िल आशना हूँ
3. ज़िन्दगी धूल की तरह

Shah Nawaz said...

बहुत ही काम की जानकारी दी आपने... धन्यवाद!

Dr Manoj Sharma said...

बहरेपन में भी उपयोगी पाया गया।इसकी पत्तियां का रस।